Tag Archives: poem

जीवन

पूछा था न तुमने, सुनो फिर Continue reading

Posted in Hindi Poem/ Stories | Tagged , , , , , , , , , , | Leave a comment

“बादल “

मन ही तो है “मेरा”
बह रहा है तुम्हारे वेग से
कभी तुम मुझ से ओर मैं तुम सी
बरसते तुम भी, बरसती मैं भी !!

दीप्ति!! Continue reading

Posted in Hindi Poem/ Stories | Tagged , , | 2 Comments